Home / Thoughts / poem about birthday यह खास अवसर है आया, फूल सि...
queenn

poem about birthday
यह खास अवसर है आया,
फूल सितारे सब लाया,
खुशियों की सौगात है,
आज तो तुम्हारे जन्मदिन की रात है…

इतने प्यार को तुम कैद करके कहां जाओगे?
कहीं मुस्कुराओगे तो कहीं आंखें नम करते रह जाओगे…
वक्त की यह जो सौगात है
आज तो तुम्हारे जन्मदिन की रात है…

फिर बीत जाएगा जब यह दिन
कोई तुमसे तुम्हारा हाल तक पूछने ना आएगा,
तुम इंतजार में बैठे रह जाओगे,
कोई फिक्र तक ना जताएगा…

ये एक दिन के प्यार को,
कितना समेट तुम पाओगे?
कुछ बांट के फिर तुम अकेले ही रह जाओगे…

चलो आंसू पोछो यूं टूटकर बिखरना तुम्हें नहीं आता है,
तुम तो सब की असलियत जानते हो फिर हर दफा इस क़दर दिल तुम्हारा क्यो बिखर जाता है??

- Queenn 👑

1 Comments

Dear User, for your own safety, we urge you to NOT share any personal information [email, phone number, social media handles, address etc.] with other Now&Me users.

Post anonymously?