Sharing Our Innermost Thoughts

share your deepest feelings and emotions in a safe and supportive environment.

⚕️Depression

🧑Anxiety

😰Stress

💗Relationships

Create Thought

Growing UpThought

@positive_babe_2

…ज़िंदगी में कभी कभी कुछ लोग ऐसे आते हैं और इस तरह आते हैं कि वो हमारे लिए बहुत ख़ास बन जाते हैं । इतने ख़ास कि उनकी छोटी - छोटी बातों से हमें फ़र्क़ पड़ता है…

लेकिन जिस तरह छोटी छोटी बातों से ऐसा रिश्ता ख़ास बनता हैं , उसी तरह कभी अगर इस ख़ास रिश्ते में उस इंसान की बड़ी - बड़ी बातों से फ़र्क़ पड़ना बंद हो जाए तो शायद वो रिश्ता कहीं ना कहीं कमज़ोर हो चुका है…

… छोटी - छोटी बातें जैसे उसका मैसेज सीन करके छोड़ देना , कॉल का जवाब ना देना आदि कब रिश्ते में एक बड़ा फ़ासला ले आती हैं…इन सब से हमें फ़र्क़ पड़ता है , हमारी भावनाओं को फ़र्क़ पड़ता है , हमारे मन को फ़र्क़ पड़ता है … पर वो इंसान अपनी इन छोटी छोटी बातों को जब आदत बनाकर दोहराता जाता है , तब एक ऐसा समय आता है , जब आपको लगने लगता है कि अब मुझे भी कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता… आपका मन खट्टा हो जाता है , आप ख़ुद से कहते हो कि छोड़ो यार !

…और आप ख़ुद उस रिश्ते में क़दम पीछे खींच लेते हो ये सोचकर कि सामने वाले को क़दर नहीं है इस रिश्ते की और आपकी या कोई भी और कारण हो , आप उस इंसान को वैसा ही छोड़ देते हो…

…वो रिश्ता , वो इंसान , वो बातें ; जैसे शुरू हुई थीं , वैसे ही समाप्त हो जाती हैं ।

…कई बार छोटी - छोटी बातों से बने बड़े रिश्ते भी कभी - कभी छोटी छोटी बातों से ही ख़त्म हो जाते हैं…

0 replies
user_group_img

8654 users have benefited
from FREE CHAT last month

Start Free Chat
start_free_chat_cta_image

Need Help? Call Us